Monday, 31 July 2017

56. तङपन- फखरे आमल खान

फखरे आलम खान का प्रथम कहानी संग्रह है- तङपन।

तड़पन- फखरे आलम खान

तड़पन श्री फखरे आलम खान का प्रथम कहानी संग्रह है। इस संग्रह की सभी कहानियां हालांकि बच्चों के लिए है लेकिन सभी प्रेरणादायक है जो सभी पाठक वर्ग को प्रभावित करती हैं।
    इस संग्रह की कहानियों में विविध रंग देखने को मिलेंगे और सभी कहानियों की एक विशेषता है, वह है सभी कहानियाँ बहुत मार्मिक हैं, पाठक की आँखों में आँसू टपक ही जाते हैं।
   इस कहानियों की एक विशेषता ये भी है की सभी कहानियाँ हमारे परिवॆश से जुङी हुयी हैं। कोई भी कहानी पाठक से विलग नहीं है। 

" इस पुस्तक में आज के बदलते सामाजिक परिवेश व संस्कृति को दृष्टिगत रखा गया है। लेखक द्वारा इसमें एक नहीं, क ई ऐसी घटनाओं को संकलित कर अपने शब्दों में आप तक पहुंचाने का सफल प्रयास किया गया है।"-   ओ. एस. तोमर (संपादक)

संग्रह की कहानियाँ
1. भगवान को चि्टठी
2. मानवता ही धर्म है
3. धर्म मानवता नहीं
4. भ्रूण हत्या
5. कलियुगी पिता
6. हलाल की कमाई
7. माता-पिता ईश्वर तुल्य
8. सूखा पत्ता
9. मानवता सबसे बङा धन
10. परोपकार का फल
11. जेल यात्रा
12. सर्वप्रिय राष्ट्र धर्म
13. कौन ब्राह्मण कौन शुद्र
-------
पुस्तक- तड़पन(कहानी संग्रह)
लेखक- फखरे आलम खान
प्रकाशन- टाइम्स पब्लिकेशन- मेरठ
संस्करण- 2006 (प्रथम)
पृष्ठ-
मूल्य- 25₹
लेखक पता-
-770/10, जैदी  सोसायटी, मेरठ- 250001(UP)

No comments:

Post a Comment